Trending

सीबीएसई पेपर लीकः 20 लाख से ज्यादा छात्र-छात्राओं को दोबारा देनी होगी बोर्ड परीक्षा

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं की गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा फिर से कराने का सर्कुलर बुधवार को जारी किया। इसमें परीक्षा में गड़बड़ी की शिकायत के बाद फिर से परीक्षा कराने की बात कही गई है। परीक्षा के आधे घंटे पहले प्रश्नपत्र ह्वाट्सऐप पर साझा हो गये थे।

इसका असर पूरे देश में सीबीएसई बोर्ड से 10वीं गणित की परीक्षा देने वाले 16,38,436 छात्र-छात्राओं पर पड़ेगा, वहीं 12वीं में अर्थशास्त्र की परीक्षा में शामिल होने वाले लगभग 11,86,306 छात्र-छात्राओं पर पड़ेगा। इनको दोबारा परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा।

इस घटना के बाद विद्यार्थियों ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन भी किया है कि ऐसी घटनाओं के कारण उनको तनाव का सामना करना पड़ रहा है। ग़ौर करने वाली बात है कि इसके कारण पूरे देशभर के सभी विद्यार्थियों को दोबारा परीक्षा देनी होगी, जिसकी तारीखें सीबीएसई द्वारा घोषित की जानी हैं।

दोबारा परीक्षा यानि फिर से तनाव

इस मुद्दे को लेकर छात्र-छात्राओं के साथ-साथ बच्चों के अभिभावक भी तनाव में हैं कि परीक्षा के नाम पर देश में क्या-क्या हो रहा है? जिन छात्र-छात्राओं को पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए, वे भी चिंतित हैं कि जो परीक्षा होने वाली है उसकी तारीख क्या होगी? अगर इस बार का पेपर खराब हुआ तो फिर क्या होगा, जिन छात्र-छात्राओं ने परीक्षा केंद्र पर जाकर परीक्षा दी है, उनकी मेहनत और तैयारी का क्या पुरस्कार मिलेगा।

सिर्फ दोबारा परीक्षा करा देने भर से समस्या का समाधान नहीं हो जायेगा। परीक्षा को एक बिजनेस की तरह देखने वाले दृष्टिकोण को बदलने की जरूरत है, यह तभी संभव होगा जब हम परीक्षा को नंबर गेम से आगे लेकर जा सकें। इसे सालभर की गतिविधियों के आकलन का एक हिस्सा भर मानें।

Advertisements

%d bloggers like this: