Trending

लाइब्रेरीः बच्चों के साथ ‘बुक टॉक’ कैसे करें?

new doc 2018-08-01_21748825576..jpg‘बुक टॉक’ यानि किताबों के बारे में ऐसी चर्चा जो बच्चों को उस किताब को पढ़ने के लिए प्रेरित करे। उनको ऐसे सवालों का जवाब खोजने के लिए प्रोत्साहित करे, जो किताब को पढ़ने के बाद ही मिल सकेंगे। इसके माध्यम से बच्चों को स्वतंत्रत रूप से सोचने का अवसर मिलता है।

इसके जरिये बच्चों को किसी किताब के कथ्य और विषयवस्तु का विश्लेषण करना, अनसुलझे सवालों की पहचान और अपनी जिज्ञासा का जवाब खोजने की प्रेरणा मिलती है। अब पढ़िए 10 ख़ास बिंदु जो एक बुक टॉक को रोचक बनाते हैं।

  1. बच्चों को हैरानी वाले भाव से भर दें। इसके लिए ऐसी किताबों का चुनाव करें जिसकी विषयवस्तु रोचक हो, जिसमें कौतूहल का भाव हो और जिसके ऊपर अच्छी चर्चा हो सके।
  2. यह बच्चों के लिए किताब के साथ पहली बार रूबरू होने का मौका है, इसलिए किताब को कैसे पढ़ें, कैसे हाव-भाव के साथ किताब की विषयवस्तु को रोचकता के साथ रखें, इसका एक आभास बच्चों को देना जरूरी है। इसका उदाहरण आप किसी पैराग्राफ को पढ़कर, किसी चित्र को दिखाकर, किसी सवाल के बारे में सोचने का अवसर देकर कर सकते हैं।
  3. बुक टॉक में रोचकता बनाएं रखें, हर बार नयेपन के साथ किसी किताब का परिचय दें। उसे बच्चों के परिवेश से जुड़ने दें। उसे बच्चों की ज़िंदगी का हिस्सा बनने दें। उस कहानी के किरदारों या पात्रों से बच्चों को दोस्ती का अवसर दें।
  4. बुक टॉक से पहले किताब को 2-3 बार पढ़ें और उन महत्वपूर्ण बिंदुओं का नोट्स लें, जो बच्चों को हैरान करने वाले हो सकते हैं। इससे आपको बुक टॉक की योजनाओं के निर्माण में मदद मिलेगी।20180820_23415431418206.jpg
  5. बुक टॉक का समय सीमित रखें और चीज़ों के दोहराव से बचें। इससे बच्चों की रुचि बनी रहेगी।
  6. आप बच्चों को कहानी समझने का संकेत या इशारा दे सकते हैं। जैसे कहानी का पात्र कब बहुत ख़ुश हुआ और किस बात पर उसको गुस्सा आया होगा। कहाँ पर उसे लगा कि वह एक ऐसी उलझन में फंस गया है, जहाँ से बाहर आना मुश्किल है।
  7. बच्चों के सवाल वे खिड़कियां हैं, जो बच्चों की जरूरतों की दुनिया में झांकने का अवसर देती हैं। इसलिए उनके सवालों को अनदेखा न करें। उनको कहानी के साथ व्यक्तिगत रूप से जुड़ने का अवसर दें। इसके लिए बच्चों से ऐसे सवाल पूछे जा सकते हैं कि अगर वे किसी पात्र की जगह खुद होते तो क्या करते?
  8. बुक टॉक से पहले किताब को खुद पढ़ना और नोट्स लेना आपको किताब के ऊपर बच्चों के साथ चर्चा करने के लिए तैयार करता है। आप बच्चों के सवालों से चर्चा की शुरुआत कर सकते हैं। या फिर कुछ निश्चित और फोक्सड सवालों के माध्यम से किसी किताब की सामग्री के बारे में उनकी विविध प्रतिक्रियाओं को जान सकते हैं। दोनो तरीकों का संतुलित माध्यम भी उपयोगी साबित हो सकता है।
  9. बच्चे जो बात कह रहे हैं उसका आधार क्या है, उसका साक्ष्य क्या है? इस दिशा में बच्चों को सोचने के लिए प्रेरित करें ताकि वे फिर से किताब की तरफ लौटें और अपने उत्तर को तथ्य या अन्य माध्यम से मजबूती के साथ रखने का कौशल दीर्घकाल में विकसित कर सकें।
  10. अगर आप बुक टॉक की शुरुआत कर रहे हैं तो छोटी किताबों के साथ शुरुआत करें। धीरे-धीरे जब छोटी किताबों के साथ सहज हो जाएं तो फिर बड़ी किताबों को चुनें। उम्मीद है कि उपरोक्त सुझावों से आप बुक टॉक जैसी गतिविधि को अपने पुस्तकालय में अच्छे से कर सकेंगे। अगर आपके कुछ सवाल और सुझाव हैं तो हमारे साथ जरूर साझा करें।
Advertisements

%d bloggers like this: