भूत ज्यादा खतरनाक होते हैं या आदमी?

बच्चे पढ़ना कैसे सीखते हैं, पठन कौशल, पढ़ना है समझनापांचवीं कक्षा में पढ़ने वाले एक बच्चे ने सवाल किया,”सच में भगवान होते हैं क्या?” इस सवाल का क्या जवाब दें। मैंने कहा कि हो सकता है। तो उसने कहा, “मेरी माँ ने भूत देखा है। जैसे भूत होते हैं। वेसे भगवान भी होते हैं।”

कौन ज्यादा खतरनाक है?

उससे मैंने पूछा, “भूत ज्यादा खतरनाक होते हैं या आदमी?”
उसने बड़ा रोचक सा जवाब दिया, “आदमी ज्यादा खतरनाक होते हैं। भूत तो केवल परेशान करते हैं। आदमी तो जान ले लेते हैं।”

इस बच्चे ने बातों ही बातों में एक सवाल किया, “कला ज्यादा जरूरी हैं या पढाई?” इस सवाल पर मेरा जवाब था, “दोनों जरूरी है। कला की भी तो पढ़ाई होती है।”

बच्चे ने फिर सवाल किया, “ज़िंदगी में मेहनत काम आती है या पढ़ाई?”
सबसे पहले तो इस सवाल को सुनकर मैं चौंका कि इतना सुंदर सवाल सुने हुए जैसा जमाने बीत गए हों। फिर उसने कहना शुरू किया कि उसका बड़ा भाई पढ़ाई में अच्छा है। लेकिन मेहनत वाले काम बहुत कम करता है।

फिर उसने कहा कि मैंने घर बनाने में मेहनत की। बाकी सारे काम करता हूँ। मैं पढ़ाई कम करता हूँ। मगर मेहनत ज्यादा करता हूँ। कला, जीवन, पढ़ाई और मेहनत को लेकर बच्चे की समझ चौंकाने वाली लगी।

1 Comment

  1. पिक्चर और कथन दोनो यथार्थवादी है।

इस लेख के बारे में अपनी टिप्पणी लिखें

%d bloggers like this: